कहाँ से हाथ लगा कुबेर का खजाना ?

 

आलोक कुमार ,

(वरिष्ठ पत्रकार व् विश्लेषक ), पटना

 

 

जैसे – जैसे सुशील जी का कद बढ़ता गया वैसे इनके परिवार का पिटारा भी बढ़ता गया ….

सबूत के तौर पर दस्तावेजों के साथ सनसनीखेज खुलासे किए हैं नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहार के उप-मुख्यमंत्री व् बिहार भाजपा के सबसे बड़े चहरे सुशील मोदी एवं उनके परिवार की अकूत संपत्तियों के बारे में ….. हाल के दिनों में लालू परिवार पर भ्रष्टाचार के आरोपों से सुर्खियां बटोर रहे सुशील मोदी अब खुद सवालों व् संदेहों के घेरों में हैं …. अब ये देखना दिलचस्प होगा कि सुशील मोदी अपना बचाव कैसे करते हैं और इस सन्दर्भ में उनकी सहयोगी पार्टी जेडी (यू) का रुख क्या होता है ?? …. वैसे अगर देखा जाए तो आरोपों के आधार पर ही तो नीतीश जी व् उनकी पार्टी तेजस्वी यादव के इस्तीफे की मांग पर अड़े थे …. ऐसे में अब क्या सुशील मोदी का इस्तीफ़ा नहीं लिया जाना चाहिए ? … आरोपों के साथ अब बॉल सुशील मोदी , भाजपा व् नीतीश के कोर्ट में डाल दी है तेजस्वी यादव ने …. आरोप गंभीर हैं और महज बयानबाजी भी नहीं … कागजी सबूत पेश किए हैं तेजस्वी ने ….  

अब मीडिया का भी कर्तव्य बनता है ( अगर जमीर जिन्दा हो तब ) कि जिस तरह से लालू परिवार के मीडिया – ट्रायल का अंतहीन सिलसिला जारी कर रखा था आप लोगों ने उसी तरह सुशील मोदी का भी ट्रायल करें और ये सुनिश्चित करें कि सुशील मोदी और उनके परिवार को कोई सेफ – पैसेज न मिलने पाए…. जैसे सबूत पेश किए हैं आज तेजस्वी ने उसे देख कर तो यही लगता है कि अपने व् अपने परिवार के काले – कारनामों पर पर्दा डालने की कवायद के तहत ही सुशील मोदी लालू यादव व् उनके परिवार को केंद्र में रख कर नित्य नयी कहानियाँ गढ़ रहे थे ….. 

वैसे देखा जाए तो सुशील मोदी के परिवार की हैरान करने वाली निरंतर बढ़ती आर्थिक हैसियत पर राजधानी पटना में हैरानी दशकों से है …. डेढ़ दशक पहले तक विडिओ – लाइब्रेरी व् कपड़े के थोक व् खुदरा कारोबार में लगा ये परिवार कैसे अपना बिजनेस – एम्पायर खड़ा कर लेता है इसे समझना कोई रॉकेट – साईंस नहीं है …. जैसे – जैसे सुशील जी का कद बढ़ता गया वैसे इनके परिवार का पिटारा भी बढ़ता गया …. कोई कुबेर का खजाना तो इनके हाथ लगा नहीं … सुशील मोदी ही इनकी सीढ़ी बने , वो भी ऐसी सीढ़ी जो अपने भाईयों को तो ऊंचाईयां प्रदान करती ही रही खुद भी लम्बी होती गयी …..

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Web Design BangladeshBangladesh Online Market